A- A A+
Last Updated : Apr 9 2020 9:38AM     Screen Reader Access
News Highlights
PM Modi interacts with political party leaders; says govt's priority is to save each and every life            Prez Trump thanks India on decision to allow Hydroxychloroquine export to US            First installment of relief package to 20 crore women Jan Dhan account holders released            SC directs COVID-19 tests in approved labs to be conducted free of cost            20 COVID-19 hotspots sealed in Delhi to tackle spread of virus; UP govt seals hotspots in 15 districts           

Text Bulletins Details


समाचार संध्या

2045 HRS
26.03.2020

मुख्य समाचार:-

  • प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए जी-20 सम्‍मेलनको वीडियो कॉन्‍फ्रेंस के जरिए संबोधित करेंगे।

  • सरकार ने कोविड-19 का मुकाबला करने में जुटे लोगों के लिए तीन महीने के पचास लाखरूपए के बीमा सुरक्षा की घोषणा की। सरकार छोटी कंपनियों के कर्मचारियों के वास्‍तेतीन माह के लिए ई पी एफ में अपनी भागीदारी साझा करेगी।

  • वित्‍त मंत्री ने महिलाओं के लाभ के लिए भी कई उपायों की घोषणा की।

  • स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय ने कहा- देश में कोरोना वायरस के सामुदायिकप्रसार के कोई ठोस प्रमाण  नहीं।

  • केन्‍द्र ने फेस मास्‍क और हैण्‍ड सेनिटाइजर की बढती मांग को पूरा करने के लिएउनका अधिकतम खुदरा मूल्‍य तय किया, डिस्‍टीलरी और चीनी मिले हैण्‍ड सेनिटाइजर का उत्‍पादनबढाएंगी।

  • विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग ने कोविड-19 से संबंधित मुद्दों के समाधान के लिएकोविड-19 कार्यबल का गठन किया।

  • और अंतर्राष्‍ट्रीय मुद्रा कोष और विश्‍वबैंक का सभी राष्‍ट्रों से विश्‍व के सबसे गरीब देशों से ऋण भुगतान पर रोक लगाने काआह्वान।

----------

जी-20 संगठन के सदस्यदेशों के नेता आज कोविड-19 पर संगठन के आसाधारण शिखर सममेलन में व़ीडियो कांफ्रेंसिंगके जरिये भाग लेंगे। सऊदी अरब की अध्यक्षता में हो रहे इस सम्मेलन में कोविड-19 संकटसे निपटने की वैश्विक रणनीति पर चर्चा चल रही है।

सऊदी अरब के शाह सलमानबिन अब्‍दुल अजीज अल सौद ने कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए कारगर और समन्वित कार्रवाईका आह्वान किया है और विश्‍व अर्थव्‍यवस्‍था पर विश्‍वास फिर से बहाल करने को कहा है।जी-20 के असाधारण वर्चुअल शिखर सम्‍मेलन में आज अपने उद्घाटन भाषण में सऊदी अरब केशाह ने कहा कि संगठन के सभी नेता विश्‍व की सबसे बड़ी अर्थव्‍यवस्‍थाओं के नेताओं केरूप में अपनी-अपनी जिम्‍मेदारियों को निभा रहे हैं और विभिन्‍न क्षेत्रों में मजबूतउपाय कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि इस मानवीय संकट से निपटने के लिए विश्‍वस्‍तर परएकजुट होकर कार्रवाई करने की आवश्‍यकता है।

कोरोना वायरस के दुनि‍याभरमें पड़ रहे दुष्‍प्रभाव का जिक्र करते हुए सऊदी अरब के शाह ने कहा कि यह महामारी इतनीफैल गई है कि विश्‍व अर्थव्‍यवस्‍था, वित्‍तीय बाजारों, व्‍यापार और वैश्विक आपूर्तिश्रृंखला पर इसका असर पड़ रहा है। उन्‍होंने कहा कि इससे विकास और प्रगति में अवरोधउत्‍पन्‍न हुआ है  जिससे पिछले वर्षों की उपलब्धियोंपर नकारात्‍मक असर दिखाई देने लगा है।

कोरोना माहमारी कीरोकथाम के लिए विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के प्रयासों में तालमेल की आवश्‍यकता पर जोरदेते हुए सऊदी अरब के शाह ने कहा कि जी-20 को विश्‍व अर्थव्‍यवस्‍था पर लोगों का भरोसाफिर से बहाल करने के लिए मजबूत संकेत देने चाहिए। उन्‍होंने कहा कि जितना जल्‍द संभवहो वस्‍तुओं और सेवाओं, खासतौर पर दवाओं की सामान्‍य सप्‍लाई बहाल की जानी चाहिए। उन्‍होंनेकहा कि विकसित देशों की यह जिम्‍मेदारी बनती है कि वे विकासशील और सबसे कम विकसित देशोंकी ओर मदद का हाथ बढ़ायें ताकि वे इस संकट से अपना बचाव कर सकें।

सऊदी शाह ने जी-20संगठन की क्षमता पर विश्‍वास व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि इससे पहले भी वैश्विक वित्‍तीयसंकटों से निपटने में इसने अपनी क्षमता साबित की है।

सऊदी अरब, जी-20 कावर्तमान अध्‍यक्ष है और उसी के आह्वान पर कोविड-19 महामारी और इसके मानवीय तथा आर्थिकदुष्‍प्रभावों से एकजुट होकर निपटने के लिए संगठन का यह असाधारण वर्चुअल शिखर सम्‍मेलनआयोजित किया जा रहा है। शिखर सम्‍मेलन में जी-20 के नेताओं के साथ-साथ अंतर्राष्‍ट्रीयऔर क्षेत्रीय संगठनों के प्रतिनिधि भी हिस्‍सा ले रहे हैं।

----------

वहीं, अंतरराष्‍ट्रीयमुद्रा कोष और विश्‍व बैंक ने दुनिया के सबसे गरीब देशों की सरकारों से ऋणों का भुगतानरोकने को कहा है ताकि वे कोविड-19 महामारी से निपट सकें। दोनों विश्‍व संस्‍थाओं नेएक संयुक्‍त वक्‍तव्‍य में कहा कि विकासशील देशों को वैश्विक आधार पर राहत उपलब्‍धकराने और वित्‍तीय बाजारों को मजबूत संकेत देने के लिए यह कदम जरूरी है।

अंतरराष्‍ट्रीय मुद्राकोष और विश्‍व बैंक ने जी-20 देशों से इस पहल का समर्थन करने की अपील की है।

----------

केन्‍द्र सरकार ने कोविड-19 से प्रभावित प्रवासीमजदूरों और गरीबों के लिए एक लाख 70 हजार करोड़ रूपये के राहत पैकेज की घोषणा की है।वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारामन ने आज नई दिल्‍ली में इसकी घोषणा की।

वित्‍त मंत्री ने बताया कि कोरोना का मुकाबलाकरने में जुटे विभिन्‍न वर्ग के लोगों के लिए तीन महीने के लिए 50 लाख रूपये का बीमाभी कराया जाएगा। इनमें चिकित्‍सक,  स्‍वास्‍थ्यकर्मी,सफाई कर्मचारी और आशा कार्यकर्ता शामिल है।

श्रीमती सीतारमण ने बताया कि 80 करोड़ लोगोंको अगले तीन माह तक पांच किलो चावल या गेंहू निशुल्‍क उपलब्‍ध कराया जाएगा। यह इस समयदिए जा रहे 5 किलो राशन के अलावा होगा। इसके अतिरिक्‍त, प्रत्‍येक परिवार को एक किलोदाल भी मुफ्त दी जाएगी।

वित्‍त मंत्री ने ये भी बताया कि वर्तमान प्रधानमंत्रीकिसान योजना के तहत आठ करोड़ 70 लाख किसानों और अन्‍य लोगों के खाते में अप्रैल केपहले सप्‍ताह तक दो हजार रूपये जमा कर दिए जाएंगे।

सरकार के इस कदम से बड़ी संख्‍या में गरीबीपेंशन पाने वाले लोग लाभान्वित होंगे जिनमें गरीब विधवाएं, दिव्‍यांगजन, स्‍व-सहायतासमूह से जुड़ी महिलाएं और उज्‍ज्‍वला योजना का लाभ ले रही महिलाएं भी शामिल हैं। वित्‍तमंत्री ने मनरेगा श्रमिकों की मजदूरी में भी वृद्धि की घोषणा की।

वरिष्‍ठ नागरिकों, विधवाओं और दिव्‍यांगजनोंको अगले तीन महीनों के दौरान एक - एक हजार रूपये की दो किस्‍तों में तदर्थ अनुदान दियाजाएगा।

----------

भारतीय जनता पार्टी अध्‍यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने केन्‍द्र के वित्‍तीय राहत पैकेजकी घोषणा का स्‍वागत किया है। उन्‍होंने कहा कि यह गरीबों, किसानों, महिलाओं, युवाओं,बुजुर्गों और असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के लिए संकट की इस घड़ी में बहुत महत्‍वपूर्णनिर्णय है।

श्री नड्डा ने एक ट्वीट में कहा है कि स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों के लिए 50 लाख रुपएकी स्‍वास्‍थ्‍य बीमा के वित्‍तीय पैकेज से करीब 20 लाख लोगों को लाभ होगा। उन्‍होंनेकहा कि सरकार के इस संकल्‍प से कोई भूखा नहीं रहेगा।

-----------

कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता राहुल गांधी ने भी केन्‍द्र की वित्‍तीय सहायता पैकेजकी घोषणा का स्‍वागत किया है। उन्‍होंने इसे सही दिशा में उठाया गया कदम बताया है।

----------

केन्‍द्रीय पेट्रोलियमप्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्‍द्र प्रधान ने वित्‍तमंत्री द्वारा घोषित राहत पैकेजको संकट की घड़ी में लोगों की मदद के लिए जिम्‍मेदार सरकार का एक अच्‍छा कदम बतायाहै, जिससे समाज के नाजुक तबकों को राहत मिलेगी। उन्‍होंने कहा कि एक लाख 70 हजार करोड़रुपये के राहत पैकेज से राष्‍ट्र को कोविड-19 की वजह से विकास कार्यों में उत्‍पन्‍नव्‍यवधान से निपटने में मदद मिलेगी।

----------

भारतीय उद्योग औरवाणिज्‍यमंडल परिसंघ-फिक्‍की ने कहा है कि वित्‍तमंत्री निर्मला सीतारामन ने कोविड-19से निपटने के लिए जिन उपायों की घोषणा की है, उनसे समाज के सबसे कमजोर तबकों के लोगोंको तत्‍काल बड़ी राहत मिलेगी। फिक्‍की की अध्‍यक्ष डॉक्‍टर सं‍गीता रेड्डी ने प्रधानमंत्रीगरीब कल्‍याण योजना का भी स्‍वागत किया है और कहा है कि इससे गरीबों, वंचित तबकों,महिलाओं और सूक्ष्‍म, लघु तथा मध्‍यम उद्यमों के लोगों को राहत मिलेगी।

-----------

और अब कोरोना वायरससंक्रमण से जुड़ी अच्‍छी खबर।

केन्‍द्र सरकार नेकहा है कि देश में कोरोना वायरस के सामुदायिक प्रसार का अभी तक कोई ठोस प्रमाण नहींमिला है। सरकार ने यह भी कहा है कि देश में वायरस संक्रमण के रोगियों की संख्‍या बढ़रही है, लेकिन इसकी वृद्धिदर में स्थिरता आने लगी है।

स्‍वास्‍थ्‍य और परिवारकल्याण मंत्रालय में संयुक्‍त सचिव लव अग्रवाल ने आज नई दिल्‍ली में बताया कि बढोतरीमें स्थिरता का रूझान अभी शुरूआती दौर में है और सोशल डिस्‍टेंसिंग जैसे जनता के सामूहिकप्रयासों से कोविड-19 की समस्‍या के समाधान की संभावना है।

कंट्ररी फुल्‍ली गीयर्ड अप। यह चैलेंज बहुत बड़ा है, इस चैलेंज को हम सबको कलैक्टिवलीमिलकर लेना है और इसमें सबका सपोर्ट क्रूशियल है। कोई भी एक नागरिक अगर वो एक गलतीकरता है तो उसका इफैक्‍ट उसके आसपास के लोगों को, उसकी फैमली को, समाज को, सबको मैनेजकरना पड़ेगा। तो इसके लिये फिर से मैं अपील करूंगा कि इसमें हर एक नागरिक इसमें हमेंअपना सहयोग दे। ताकि मिलकर हम इस प्राब्‍लम से मुक्ति पा सकें।

श्री अग्रवाल ने कहाकि कोविड-19 संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ने के लिए सोशल डिस्‍टेंसिंग यानी एक-दूसरेसे मिलते-जुलते समय पर्याप्‍त दूरी बनाये रखना इस समस्‍या का एकमात्र समाधान है।

श्री अग्रवाल ने कहाकि 64 हजार से अधिक लोगों को निगरानी में रखा जा रहा है और सिर्फ एक-दो मामलों से यहसाबित नहीं होता कि देश में कोरोना वायरस सामुदायिक स्‍तर पर फैल गया है।

श्री लव अग्रवाल नेबताया कि मंत्रिमंडल सचिव ने आज मौजूदा स्थिति से निपटने के लिए अस्‍पतालों में कीजा रही तैयारियों के बारे में राज्‍यों के मुख्‍य सचिवों के साथ समीक्षा बैठक की। मंत्रिमंडलसचिव ने मुख्‍य सचिवों से आवश्‍यक वस्‍तुओं की पर्याप्‍त आपूर्ति सुनिश्चित करने काआग्रह किया।

श्री अग्रवाल ने कहाकि 17 राज्‍यों में कोविड-19 के इलाज के लिए अलग से अस्‍पताल बनाने का कार्य शुरू करदिया है।

स्‍टेट्स को स्‍पैसिफिकली हमने कोविड के लिये डैडिकेटिड हॉस्पिटल बनाने के लियेजो रिक्‍वैस्‍ट की है उसके तहत करीब 17 स्‍टेट में यह कार्य शुरू भी हो चुका है। जहांपर भी डैडिकेटिड कोविड हॉस्पिटल बनाये जा रहे हैं इसके साथ ही सारे पेशेन्‍ट्स का प्रॉपरप्रोटोकॉल के हिसाब से ट्रिटमेन्‍ट हो और देश में जो हमारे डॉक्‍टर्स हैं उनको हम ओरियेन्‍टकर पायें कि उसका प्रोटोकॉल क्‍या है। यूनिफार्मिटी ऑफ ट्रीटमेन्‍ट हो उसके लिये एम्‍सदिल्‍ली के साथ मिल कर अभी हम लोगों ने ऑनलाइन ट्रेनिंग डॉक्‍टर्स के लिये शुरू कीहै। वह ट्रेनिंग जो कि महामारी विज्ञान और इन्‍फैक्‍शन कंट्रोल प्रैक्टिसिज़ और केसमैनेजमैंट के उपर डॉक्‍टर्स को ओरियेन्‍टेशन के द्वारा दी जा रही है।

श्री अग्रवाल ने बतायाकि आशा और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए कोविड-19 की रोकथाम और इसके नियंत्रण के उपायों,सामुदायिक निगरानी के तरीके और सामुदायिक स्‍तर पर जन-स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं से संबंधितप्रशिक्षण कार्यक्रम भी शुरू किए गए हैं।

श्री अग्रवाल ने कहाकि देश में कोविड-19 के 649 मामलों में संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है, जिनमें से47 विदेशी नागरिक हैं।

अभी तक हमारे देश में टोटल 649 कन्‍फर्म केसेज़ पाये गये हैं। उन केसेज़ के उपरएज़ पर प्रोटोकॉल हम रिक्‍वायर्ड एक्‍शन ट्रीटमेन्‍ट फॉलोअप कर रहे हैं। इसके साथ ही13 डैथ्‍स भी रिपोर्ट हुई हैं। पिछले 24 घंटे में 43 नये कन्‍फर्म केस आये हैं और4 नई डैथ रिपोर्ट हुई हैं।

गृह मंत्रालय मेंसंयुक्‍त सचिव पुण्‍यसलिला श्रीवास्‍तव ने कहा कि सरकार ने राज्‍यों और केन्‍द्रशासितप्रदेशों से आवश्‍यक वस्‍तुओं की समुचित आपूर्ति, उत्‍पादन और वितरण सुनिश्चित करनेको भी कहा है। उन्‍होंने कहा कि गृह मंत्रालय स्थिति पर लगातार निगाह रखे हुए है औरराज्‍य तथा केन्‍द्रशासित प्रदेशों ने कोविड-19 के बारे में हेल्‍पलाइन सेवाएं भी शुरूकी हैं। उन्‍होंने कहा कि नागर विमानन मंत्रालय ने पूर्वोत्‍तर राज्‍यों में आवश्‍यकवस्‍तुओं की पर्याप्‍त आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए विशेष व्‍यवस्‍था की है। उन्‍होंनेबताया कि राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों से आग्रह किया गया है कि वे प्रवासी मजदूरोंके रहने और खाने-पीने का इंतजाम करें।

भारतीय आयुर्विज्ञानअनुसंधान परिषद-आईसीएमआर के प्रधान वैज्ञानिक रमन गंगाखेडकर ने कहा है कि प्राइवेटप्रयोगशालाओं को कोविड-19 के नमूनों के परीक्षण की इजाजत दी गई है, लेकिन उनमें परीक्षणका कार्य अभी शुरू नहीं हुआ है, उन्‍होंने कहा कि प्रयोगशालाएं परीक्षण किट खरीद रहीहैं।

----------

ये विशेष कार्यक्रम हमारी वेबसाइट news on air.com/hindi और हमारे मोबाइल ऐप News On Air पर भी उपलब्‍ध हैं।

----------

केंद्रीय मंत्री प्रकाशजावड़ेकर ने आज सुबह अपने तीनों मंत्रालयों के अधिकारियों के साथ ऑडियो कांफ्रेंस की।श्री जावड़ेकर ने अधिकारियों से 21 दिन के लॉकडाउन के दौरान कड़ी मेहनत करने का आग्रहकिया।

उन्‍होंने ऑडियो ब्रिजके जरिए 400 अधिकारियों के साथ चर्चा की। श्री जावड़ेकर ने कहा कि कोविड-19 से उत्पन्नसंकट के दौर में मीडिया और संचार आवश्यक सेवा है। उन्होंने सूचना और प्रसारण मंत्रालयके अधिकारियों को सुझाव दिया कि वे जनता तक सही और प्रामाणिक जानकारी पहुंचाने के लिएचौबीसों घंटे उपलब्ध रहें और सामान्य की तुलना में अधिक काम करें।

----------

वहीं, स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ0 हर्षवर्द्धनने आज लोगों से डॉक्‍टरों, नर्सों और पैरामेडिकल कर्मियों के साथ भेदभाव न करने काआग्रह किया। अपने संदेश में उन्‍होंने कहा कि ये लोग कोरोना वायरस के खिलाफ लडाई मेंसबसे आगे खडे हैं। श्री हर्षवर्द्धन ने लोगों से चिकित्‍सा और स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियोंका मनोबल बनाए रखने को कहा है। उन्‍होंने कहा कि डर के कारण डॉक्‍टरों और नर्सों केसाथ दुर्व्‍यवहार करना गलत है।

----------

केन्‍द्र सरकार ने तीन परतों वाले फेस मास्‍क का खुदरा मूल्‍य 16 रुपए प्रति मास्‍कतय कर दिया है। यह मूल्‍य तीस जून तक लागू रहेगा। आकाशवाणी से बातचीत में उपभोक्‍ताकार्य सचिव पवन अग्रवाल ने कहा कि फेस मास्‍क निर्माताओं से सलाह करने के बाद इस प्रकारके मास्‍क की यह दर तय की गई है। उन्‍होंने कहा कि इससे फेस मास्‍क की पर्याप्‍त उपलब्‍धतासुनिश्‍चित होगी।

21 मार्च को उपभोक्‍ता मामलो के मंत्रालय ने दो परतों वाले फेस मास्‍क की अधिकतमखुदरा दर आठ रुपए और तीन परतों वाले सर्जिकल मास्‍क की दर दस रुपए प्रति मास्‍क अधिसूचितकी थी। श्री अग्रवाल ने बताया कि फेस मास्‍क और सैनिटाइजर की पर्याप्‍त मात्रा मेंआपूर्ति के प्रयास किये जा रहे हैं।

----------

विज्ञान और टेक्‍नालॉजीविभाग, अनुंसधान और विकास प्रयोगशालाओं, शैक्षिक संस्‍थाओं, स्‍टार्टअप्स और सूक्ष्‍म,लघु तथा मध्‍यम उद्यमों के पास उपलब्‍ध कोरोना वायरस संबंधी टेक्‍नालॉजी का सर्वेक्षणकरने के लिए कोविड-19 कार्यबल गठित किया है। इसका उद्देश्‍य बीमारी का पता लगाने,परीक्षण, स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल और उपकरणों की आपूर्ति के क्षेत्र में उपयोग के लिए तैयारटेक्‍नालॉजी के लिए धन की व्‍यवस्‍था करना है। इस तरह की टेक्‍नालॉजी से बनने वालीवस्‍तुओं में मास्‍क, सेनीटाइजर्स, किफायती परीक्षण किट, वेंटीलेटर्स और ऑक्‍सीजनरेटरशामिल हैं।

विज्ञान और टेक्‍नालॉजीविभाग कोविड-19 से संबंधित अनेक मुद्दों के देश में उपलब्‍ध समाधानों से संबंधित टेक्‍नालॉजीमें सुधार करने के कार्य में भी तालमेल रख रहा है। क्षमता सर्वेक्षण के लिए गठित समूहमें विज्ञान और टेक्‍नालॉजी विभाग, बायो टेक्‍नालॉजी विभाग, भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधानपरिषद, भारतीय वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद तथा इलेक्‍ट्रानिक्‍स और सूचनाटेक्‍नालॉजी मंत्रालय के प्रतिनिधि शामिल हैं। कार्यबल ऐसे स्‍टार्टअप्स की पहचान करेगाजिन्‍हें टेक्‍नालॉजी के विकास के लिए वित्‍तीय और अन्‍य सहायता की जरूरत है।

----------

केन्‍द्र सरकार नेशराब कारखानों और चीनी मिलों से कहा है कि वे सेनिटाइजर बनाने के लिए ऐथेनॉल का ज्‍यादासे ज्‍यादा उत्‍पादन करें। उपभोक्‍ता मामलों के मंत्रालय ने कहा है कि एक सौ डिस्टि‍लरियोंऔर पांच सौ से अधिक सेनिटाइजर बनाने वाली कम्‍पनियों को हैंड सेनिटाइजर के उत्‍पादनकी इजाजत दी गई है। इनमें से ज्‍यादातर ने उत्‍पादन भी शुरू कर दिया है और बाकी एकसप्‍ताह के भीतर उत्‍पादन करने लगेंगी।

मंत्रालय ने कहा हैकि केन्‍द्र और राज्‍य सरकारें देशव्‍यापी लॉकडाउन के दौरान आवश्‍यक वस्‍तुओं की सुचारूसप्‍लाई सुनिश्चित करने के लिए सभी कदम उठा रही हैं। मंत्रालय ने कहा है कि सेनिटाइजरोंकी मांग और आपूर्ति दोनों ही दिन-प्रतिदन बढ़ रही है। इसमें संतुलन बनाये रखने के लिएसभी संबंधित अधिकारियों को ऐथेनॉल की सप्‍लाई में आने वाली बाधाओं को दूर करने को कहाहै। मंत्रालय ने हैंड सेनिटाइजर का उत्‍पादन करने को इच्‍छुक डिस्टिलरियों और आवेदकोंको जल्‍द लाइसेंस और इजाजत देने को भी कहा है। मौजूदा सेनिटाइजर उत्‍पादकों को उत्‍पादनबढ़ाने के लिए तीन शिफ्टों में काम करने को भी कहा गया है।

आम लोगों और अस्‍पतालोंको हैंड सेनिटाइजर किफायती दामों पर उपलब्‍ध हो सकें, इसके लिए सरकार ने इनका अधिकतमखुदरा मूल्‍य भी तय कर दिया है। दो सौ मिलीलीटर की सेनिटाइजर की बोतल का अधिकतम खुदरामूल्‍य एक सौ रुपया तय किया गया है।

----------

खाद्य प्रसंस्करणउद्योग मंत्रालय ने राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के कारण खाद्य प्रसंस्करण उद्यमियों की समस्याओंका समाधान जल्द से जल्द करने के लिए शिकायत निवारण प्रकोष्ठ बनाया है।

खाद्य प्रसंस्करणउद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि कारोबारी को अगर खाद्य पदार्थों के वितरणके बारे में कोई समस्या आ रही है तो वे अपनी समस्या covidgrievance-mofpi@gov.in.पर भेज सकतेहैं। व्यापार संवर्धन और व्यापारियों तथा निवेशकों के लिए निर्बाध व्‍यवस्‍था के वास्‍तेएक वेबसाइट www.investindia.gov.in/bip तैयार की गई है।

----------

मुकेश, जम्‍मू-कश्‍मीर में उत्‍तरी कमान मुख्‍यालय सैनिकों को कोरोना वायरस संक्रमणसे बचाने के लिए हर संभव कदम उठा रहा है। जम्‍मू, कश्‍मीर और लेह के विभिन्‍न भागोंमें न केवल सेना के अस्‍पतालों बल्‍कि सभी इकाई स्‍तर पर क्‍वारंटीन की सुविधा स्‍थापितकी जा रही है।

उत्‍तरी कमान ने बताया कि छुट्टी से आने वाले सैनिकों में सम्‍भावित फ्लू के लक्षणोंकी जांच की जा रही है और अनावश्‍यक यात्रा तथा सम्‍मेलन रद्द किए जा रहे हैं। सेना में कोरोना वायरस के फैलाव को रोकनेके लिए यह एहतियाती कदम उठाये गए हैं। सेना की सभी इकाईयों को सैनिकों को कोविड-19से बचाने के लिए सख्‍त कदम उठाने के आदेश दिये गए हैं। उत्‍तरी कमान ने मिशन कोरोनामुक्‍त आवाम के अंतर्गत यह कदम उठाया है।

----------

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्‍थान- आईआईटी गांधीनगर ने अपने छात्रों को रचनात्‍मकपरियोजनाओं में शामिल करने के लिए प्रॉजेक्‍ट आइज़ेक शुरू की है। इसकाउद्देश्‍य कोरोना वायरस के कारण घरों में रह रहे छात्रों का गुणात्‍मक कौशल बढ़ानाहै। एक रिपोर्ट:-

प्रोजैक्‍ट आईज़ैक के तहत आईआईटी गांधीनगर ने अपने छात्रों के लिये दैनिक पुरस्‍कारोंके साथ कई रोमांचक और ऑनलाइन प्रतियोगितायें शुरू की हैं। आईआईटी गांधीनगर के निदेशकप्रोफेसर सुखबीर जैन ने कहा, प्रोजैक्‍ट आईज़ैक महामारी के बीच छात्रों को व्‍यस्‍तरखने के लिये दुनियाभर में शैक्षणिक संस्‍थाओं के लिये एक रोल मॉडल माना जाता है। उन्‍होंनेकहा 12 दिनों की कोर प्रतियोगिता में छात्र रोजाना जारी की गई नई कोडिंग समस्‍याओंपर 24 घंटे काम करते हैं। वीडियो चैलेंज में छात्र नेतृत्‍व पर टेक्‍टऑफ वीडियो देखकरखुद के बारे में लिखते हैं। डोन्‍ट क्‍वारनटाइन योर कोरोना नाम की प्रतियोगिता मेंजिसमें छात्र अपनी पसंद के टीवी शो, एपिसोड, मूविज़, डॉक्‍यूमेन्‍टरी और वेब सीरीज़की समीक्षा लिखते हैं। श्री जैन ने कहा कि छात्रों के कैम्‍पस लौटने पर विशाल प्रतिभाप्रतियोगिता के आयोजन के साथ प्रोजैक्‍ट आईज़ैक का सामापन होगा। संस्‍था के लगभग40 प्रतिशत छात्र इन विभिन्‍न प्रतियोगिताओं में हिस्‍सा ले रहे हैं, जो पूरी तरह सेस्‍वैच्छिक है। अपर्णा / आकाशवाणी समाचार / अहमदाबाद।

----------

देश भर में लॉकडाउनका कड़ाई से पालन कराया जा रहा है। विभिन्‍न राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों मेंआवश्‍यक वस्‍तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के प्रयास किये जा रहे हैं।

महाराष्‍ट्र में कोविड-19 के मद्देनज़र देशव्‍यापी लॉकडाउन से निपटने के लिए कुछदुकानदारों और सब्‍जी विक्रेताओं ने खरीददारों के बीच निर्धारित दूरी बनाये रखने केलिए जो तरीका अपनाया हैं उसका लोगों में स्‍वागत किया जा रहा है और आज दूसरे दिन भीअनेक स्‍थानों पर भी इस पर अमल किया जा रहा है।

महाराष्‍ट्र में कुछ दुकान मालिकों और सब्‍जी विक्रेताओं द्वारा शुरू किये गयेसोशल डिस्‍टेन्सिंग का अनूठा प्रयोग आज राज्‍य के सभी सार्वजनिक जगहों पर किया गया।लोगों ने खुद से कतार में दूरी रखकर खड़े होकर एक-दूसरे को सहयोग किया। आवशयक वस्‍तुओंकी आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिये नवी मुम्‍बई में बाजार समिति ने अपने परिसर मेंएक वॉररूम स्‍थापित करने का फैसला किया है। साथ ही मुख्‍यमंत्री उधव ठाकरे ने आज घोषणाकी कि किराना, चिकित्‍सा और सब्जियों सहित सभी आवशयक वस्‍तुओं की दुकाने 24 घंटे केदौरान खुलेंगी। इस बीच राज्‍य के उप मुख्‍यमंत्री अजीत पवार ने भी आज सुनिश्चित कियाकि 21 दिन की तालाबन्‍दी के बावजूद दूध, सब्जियां, फल, दवायें, पशु खाद्य और रसोई गैसकी पर्याप्‍त आपूर्ति के साथ आवशयक सेवायें चालू हैं। पवार ने निर्देश दिया कि स्‍थानीयनागरिक इकाइयों को आवशयक सामानों की आपूर्ति की योजना बनानी चाहिये ताकि उन्‍हें लोगोंतक सामान उनके दरवाज़े या उनकी हाउसिंग सोसायटी तक पहुंचा सकें। निवेदिता के साथ कुनालशिंदे / आकाश्‍वाणी समाचार / मुम्‍बई।

उत्‍तर प्रदेश सेहमारे लखनउ संवाददाता ने बताया है कि सभी जिलों में लोगों के घरों तक जरूरी सामान पहुंचायाजा रहा है।

प्रदेश के सभी हिस्‍सों में लॉकडाउन का अच्‍छे से पालन हो रहा है। प्रदेश के पुलिसमहानिदेशक हितेश चन्‍द्र अवस्‍थी ने आकाशवाणी को बताया कि लॉकडाउन का उल्‍लंघन करनेवालों के खिलाफ पूरे प्रदेश में लगभग 2000 मुकदमें दर्ज किये गये हैं। आकाशवाणी केमाध्‍यम से उन्‍होंने लोगों से घरों में रहने और लॉकडाउन का पालन करने की अपील की।

इसबीच प्रशासन सभी जिलों में लोगों के घरों तक रसद और जरूरी सामान पहुंचा रहा है।इस काम में लगभग 18000 वाहनों की मदद भी ली जा रही है। सभी जिलों में कन्‍ट्रोल रूमभी बना दिये गये हैं जो 24 घंटे काम करते रहेंगे। प्रशासन प्रदेश के लगभग 60000 ग्रामप्रधानों को फोन कर के उनसे अपने-अपने क्षेत्रों में लॉकडाउन का पालन करवाने और कोरोनावायरस को लेकर जरूरी एहतियात के बारे में लोगों को जागरूक करने की अपील कर रहा है।सुशील चन्‍द्र तिवारी / आकाशवाणी समाचार / लखनउ।

राज्य सरकार ने आजसामुदायिक रसोई की भी शुरुआत की और जरूरतमंद लोगों को खाने के पैकेट उपलब्ध कराए।

इस बीच, कोविड-19के चार और मामले आए, जिनमें तीन गौतम बुध नगर और एक बागपत से है। इसके साथ ही राज्यमें संक्रमित मरीजों की संख्या 42 हो गई है।

हिमाचल प्रदेश केमुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर ने कोविड-19 के फैलाव के बाद राज्‍य में आवश्‍यक वस्‍तुओंकी उपलब्‍धता की स्थिति की समीक्षा की। एक रिपोर्ट:-

कोविड 19 के संक्रमण को देखते हुए राज्‍य सरकार ने आपातकाल और आवशयक सेवाओं कोछोड़कर अन्‍य सभी राज्‍य कर्मचारियों को इस महीने की 31 तारीख तक अपने आवासों में रहनेके आदेश जारी किये हैं। मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि आवशयक वस्‍तुओं की खरीदारीके दौरान सोशल डिस्‍टेन्सिंग का ध्‍यान रखा जाये। उन्‍होंने आम जनता से घबराहट मेंआकर खरीदारी ना करने का आग्रह किया। साथ ही सुनिश्चित किया कि राज्‍य सरकार के पासआवशयक वस्‍तुएं पर्याप्‍त मात्रा में उपलब्‍ध हैं। इसबीच राज्‍य में कुछ घंटों के लियेकर्फयू में आवशयक वस्‍तुओं की खरीदारी के लिये ढील दी गई। वहीं कई सामाजिक संस्‍थायेंभी गरीबों व जरूरतमंदों को खाद्य सामग्री उपलब्‍ध करा रही हैं। संजीत सुद्रीयाल / आकाशवाणीसमाचार / शिमला।

जम्‍मू कशमीर से हमारेसंवाददाता ने बताया है कि आज करोना वायरस के दो नये मामले सामने आये हैं।

जम्‍मू-कशमीर में पॉजि़टिव मामले बढ़कर 13 तक जा पहुंचे हैं। हालांकि एक रैस्‍टीकको ठीक होने पर छुट्टी भी दी गई है। जम्‍मू कशमीर के उप-राज्‍यपाल गिरीश चन्‍द्र मुरमुने आम लोगों से अपील की है कि वे प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी द्वारा की गई अपील औरलॉकडाउन का पूरी तरह से पालन करें। उन्‍होंने कहा है कि लोगों को एक-दूसरे से सामाजिकदूरी बनाये रखनी चाहिये ताकि कोविड 19 को फैलने से रोका जा सके। इसके अलावा जम्‍मू-कशमीरसरकार ने लोगों से अपील की है कि वो घबरायें नहीं और अफवहों पर कोई यकीन ना करें। आकाशवाणीसमाचार के लिये जम्‍मू से आर के रैना।

----------

वहीं, कर्नाटक मेंकोविड-19 के मामलों की संख्या 55 तक पहुंच गई है। इनमें दो लोगों की मृत्यु हो गई हैऔर तीन लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। मुख्यमंत्री बी.एस. येडियुरप्पा नेमहामारी के मद्देनज़र जिला उपायुक्तों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बातचीत कर पूर्णलॉकडाउन का जायजा लिया। उन्होंने केंद्रीय वित्त मंत्री द्वारा गरीब कल्याण कार्यक्रमकी घोषणा का स्वागत किया।

----------

इस बीच, तेलंगाना में भी कोरोना वायरस के तीन और मामले सामने आए हैं जिनसे राज्‍यमें संक्रमित लोगों की संख्‍या 44 हो गई है। आज जिन तीन व्‍यक्तियों में कोरोना वायरसके लक्षण पाये गए हैं उनमें एक डॉक्‍टर दम्पत्‍त‍ि भी शामिल है। ये दोनों ही डॉक्‍टरएक निजी अस्‍पताल में कार्य करते हैं और शहर के भीड़-भाड़ वाले क्षेत्र डोमालगुडा केनिवासी हैं जहां अभी तक कोई विदेशी सैलानी नहीं आया।    सभी तीन रोगियों की हालत स्‍थिर है और उनका एक अस्‍पताल में इलाज चलरहा है।

----------

पुदुचेरी के मुख्यमंत्रीवी. नारायणसामी ने कोविड-19  के मद्देनजर कराइकलस्वास्थ्य विभाग को सेनिटाइजर और मास्क और अन्य उपकरण खरीदने के लिए पांच करोड़ 18लाख रुपये की मंजूरी दी है।

मुख्यमंत्री ने क्षेत्रके उद्योगपतियों से खुले दिल से दान देने की अपील की है। इस सिलसिले में कराइकल पोर्टने करईकल जिला प्रशासन को दस लाख रुपये के मॉस्क, दस्ताने, सेनिटाइडर और अन्य चिकित्साउपकरण प्रदान किए हैं।

----------

हिमाचल प्रदेश केमुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर ने कोविड-19 के फैलाव के बाद राज्‍य में आवश्‍यक वस्‍तुओंकी उपलब्‍धता की स्थिति की समीक्षा की। मुख्‍यमंत्री ने आज संबंधित अधिकारियों को आवश्‍यकवस्‍तुओं की आपूर्ति श्रृंखला को बनाये रखने का भी निर्देश दिया ताकि इस महामारी केफैलाव की वजह से किसी को भी भूखमरी का सामना न करना पड़े।

मुख्‍यमंत्री ने उचितदर की दुकानों से उपभोक्‍ताओं को आवश्‍यक वस्‍तुंए बांटते समय सोशल डिस्‍टेंसिंग यानीएक दूसरे से पर्याप्‍त दूरी बनाये रखने का पूरा ध्‍यान रखने को भी कहा। उन्‍होंने आमजनता से आग्रह किया कि वे घबराहट में समान की अनावश्‍यक खरीदारी न करें।

----------

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने जानकारी दी है किराजधानी में कई जगहों पर ग़रीबों को खाना खिलाने का काम शुरू हो गया और कल से अन्यइलाकों में भी यह कार्य शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि इसमें सोशल डिस्टेंसिंग कापूरी तरह से पालन किया जा रहा है।

----------

दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमदबुखारी ने मुसलमानों से अपील की है कि वे जुम्‍मे और बाकी सभी दिन मस्जिद की बजाए घरमें ही नमाज़ पढ़ें। उन्होंने लोगों से कहा कि वे लॉकडाउन का कड़ाई से पालन करें।

आज तमाम इंसानियत और हमारा मुल्‍क कोरोना वायरस की मौलिक बीमारी से मुतासिर है।यह वक्‍त सिर्फ और सिर्फ एहतियात और प्रीकॉशन्‍स का है। हुकुमत की जानिब से जो भी स्‍टैप्‍सउठाये जा रहे हैं उस पर सख्‍ती के साथ अमल करने का है। लोगों को घरों पर ही नमाज़ पढ़नेकी हिदायत दी गई है और लोग इस पर अमल भी कर रहे हैं। कल जुम्‍मा है, तमाम ओलामा कीयही राय है लोग घरों में नमाज़ जरूर अदा करें।

----------

वहीं, दिल्‍ली केअखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान-एम्‍स ने कोविड-19 से निपटने के लिए प्रबंधन प्रोटोकॉलविकसित करने के लिए एक कार्यबल गठित किया है। आने वाले दिनों में संक्रमण की संख्‍यामें बढोत्‍तरी की चुनौती का सामना करने के लिए भी कई समितियां गठित की गई हैं। ये समितियांरोगियों के इलाज के प्रबंधन से संबंधित विभिन्‍न गतिविधियों में तालमेल रखेंगी।

----------

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञानसंस्थान-एम्स में संक्रमण बीमारियों के विशेषज्ञ डॉ आशुतोष विश्वास ने कहा है कि कोविड19 से उत्पन्न स्थिति से निपटना डाक्टरों के लिए चुनौती है, लेकिन चिकित्सा सेवाएंउपलब्ध कराना उनका कर्तव्य है। आकाशवाणी से बातचीत में डॉ. विश्वास ने कहा कि डॉक्टर,रेजिडेंट डाक्टर, नर्स, पैरा मैडिक कर्मचारी कोविड-19 से निपटने के लिए दिन रात कामकर रहे हैं। उन्होंने लोगों को घर में रहने की सलाह दी है। डॉ. विश्वास ने कहा कि कोविड19 से मृत्यु दर हालांकि कम है लेकिन संक्रमण का खतरा अधिक है। उन्होंने कहा कि हमाराध्यान वेंटिलेटर और महत्वपूर्ण उपकरण उपलब्ध कराने पर है।

----------

पश्चिम बंगाल सरकारने भी राज्य में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति बनाए रखने के लिए सभी आवश्यक उपाय किए हैं।पुलिस ने राज्य के विभिन्न हिस्सों में जमाखोरी रोकने के लिए अभियान चलाया है।

----------

Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 9 (Apr) Midday News 8 (Apr) News at Nine 8 (Apr) Hourly 9 (Apr) (0605hrs)
समाचार प्रभात 9 (Apr) दोपहर समाचार 8 (Apr) समाचार संध्या 8 (Apr) प्रति घंटा समाचार 9 (Apr) (0600hrs)
Khabarnama (Mor) 9 (Apr) Khabrein(Day) 8 (Apr) Khabrein(Eve) 8 (Apr)
Aaj Savere 9 (Apr) Parikrama 8 (Apr)

Listen Programs

Daily COVID19 Bulletin 6 (Apr) Market Mantra 8 (Apr) Samayki 8 (Apr) Sports Scan 23 (Mar) Spotlight/News Analysis 8 (Apr) Samachar Darshan 22 (Mar) Radio Newsreel 21 (Mar)
    Public Speak

    Country wide 12 (Mar) Surkhiyon Mein 12 (Mar) Charcha Ka Vishai Ha 11 (Mar) Vaad-Samvaad 17 (Mar) Money Talk 17 (Mar) Current Affairs 6 (Mar)
  • Money Matters 22 (Mar)
  • International News 22 (Mar)
  • Press Review 23 (Mar)
  • From the States 23 (Mar)
  • Let's Connect 22 (Mar)
  • 360°- Ek Parivesh 23 (Mar)
  • Know Your Constitution 30 (Jan)
  • Ek Bharat Shreshta Bharat 22 (Mar)
  • Sanskriti Darshan 23 (Mar)
  • Fit India New India 23 (Mar)
  • Weather Report 21 (Mar)
  • North East Diaries 22 (Mar)
  • 150 Years of Bapu 22 (Mar)
  • Sector Specific Discussions 22 (Mar)